जब बात आपके टूटे हुए दांत या कृत्रिम दांत लगवाने की बात आती है तो डेंटल इंप्लांट्स एक महत्वपूर्ण समाधान हो सकता हैं| आपको डेंटल इंप्लांट्स के बारे में जानकारी होना आवश्यक है। ज्यादा नहीं तो कम से कम इतना जरूर मालूम होना चाहिए कि डेंटल इम्प्लांट्स के कुछ अल्पकालिक और दीर्घकालिक लाभ होते हैं। इससे मरीज को सभी प्रकार के दंत स्वास्थ्य समस्याओं से संबंधित उत्तम समाधान प्राप्त करने में सहायता मिल सकती है। अक्सर शुरुआत के कुछ हफ्तों में मरीज को खाना खाते समय तकलीफ का सामना करना पड़ता है और कुछ दिनों के दौरान थोड़ी सी सनसनी महसूस होती है लेकिन कुछ समय बाद आप खाना खाते वक्त अच्छा महसूस करने लगते है। इसके और अधिक फायदे देखने से पहले, आइए डेंटल इंप्लांट्स के बारे में अधिक जानते हैं।

डेंटल इंप्लांट्स (Dental Implant) क्या है?

डेंटल इंप्लांट्स के लिए विकल्पडेंटल इम्प्लांट (दंत प्रत्यारोपण) में, जहां पर दांत नहीं है वहाँ उसकी जड़ को एक स्क्रू से बदल दिया जाता है जो की जिरकोनियम, छोटे टाइटेनियम या सिरेमिक स्क्रू से यह बना होता है। यह उचित स्थान पर सुरक्षित रूप से बिठाया जाता है।

क्या सभीको डेंटल इम्प्लांट मिल सकता है?

डेंटल इंप्लांट्स जैसे उपचार कोई भी करवा सकता है| दांतों के नुकसान से निपटने के लिए कई तकनीक उपलब्ध हैं। डेंटल इंप्लांट्स के बाद उचित देखभाल सुनिश्चित करने के लिए, डेंटल इंप्लांट्स से संबंधित कुछ बातों पर विचार करना आवश्यक हो जाता है । नीचे दिए गए निम्नलिखित मामलों पर विचार किया जाता है:
  • यदि बच्चा है तो अधिकांश १८ वर्ष की आयु तक प्रतीक्षा करने की सलाह देते हैं उसके बाद आप उसके ऊपर उपचार कर सकते हैं
  • मधुमेह, कमजोरी और कुछ अन्य चीजों जैसे गंभीर स्वास्थ्य मुद्दों के मामले में, जहां पर दर्द होता है उसी के लिए डेंटिस्ट आपको उचित दवाइयां देते हैं
  • डेंटल इंप्लांट्स में अनुचित हड्डी भी समस्याग्रस्त हो सकती है क्योंकि यह उसके साथ जुड़ नहीं सकती है, फिर भी कुछ मामलों में वैकल्पिक तरीकों का उपयोग किया जा सकता है और आपके ऊपर इलाज किया जा सकता है|

डेंटल इम्प्लांट निम्नलिखित तरीकोंसे फायदेमंद हो सकते हैं:डेंटल इंप्लांट्स

    १. यह लगभग प्राकृतिक दांतों की तरह होता है
डेंटल इम्प्लांट प्राकृतिक दांत की तरह ही कार्य करता है। इसकी सभी देखभाल प्राकृतिक दांतों की तरह ही करनी चाहिए। आपको फ्लॉस करना चाहिए और प्रतिदिन ठीक से ब्रश करना चाहिए। आप इसका जितना ज्यादा अच्छा ख्याल रखेंगे आपके दांत अच्छे रहेंगे| डेंटल इम्प्लांट्स में, रूट कैनाल या फिलिंग की कोई आवश्यकता नहीं होती है।
    २. बेहतर टिकाऊपन
डेंटल इंप्लांट्स का स्थायित्व अद्भुत है और इसकी सफलता का दर ९५% से अधिक है। इसलिए बहुत से लोग यह इलाज करवाते है| डेंटल इम्प्लांट करने के बाद समय के साथ साथ, वे आपके जबड़े की हड्डी का हिस्सा बन जाते हैं। नियमित रूप से उचित डेंटिस्ट की जांच के बाद और अच्छी मौखिक स्वच्छता बनाए रखने से प्रत्यारोपण के लंबे समय तक चलने की संभावना सुनिश्चित हो सकती है।
    ३. प्रभावी लागत
डेंटल इंप्लांट्स बहुत खर्चीला उपचार नहीं होता है । हालांकि, समग्र तस्वीर को देखते हुए डेंटल इंप्लांट्स में केवल एक बार की लागत होगी जो बहुत लंबी अवधि तक चलेगी। जबकि, अन्य दंत चिकित्सा उपचारों के लिए नियमित अंतराल पर चेक-अप और इसके संबंध में लागत की आवश्यकता होती है ।
    ४. यह दैनिक खाने के पैटर्न को प्रभावित नहीं करेगा
आपका दंत प्रत्यारोपण विभिन्न खाद्य पदार्थों को खाते समय कोई समस्या पैदा नहीं करेगा। डेंटल इंप्लांट्स आपके बोलने, खाने और मुस्कुराने को उतना ही सामान्य बना सकते हैं जितना आप प्राकृतिक दांतों के साथ कर सकते हैं। याद रखें, अंत में एक अच्छे आहार में चीनी की एक सीमा होनी चाहिए उससे आपके स्वास्थ्य को दुष्परिणाम नहीं होना चाहिए|
    ५. हड्डी के नुकसान को रोका जा सकता है
अगर दांत खराब होने के बाद दांत को जल्दी से नहीं बदला जाता है, तो हड्डी के नुकसान की संभावना होती है। डेंटल इम्प्लांट्स जबड़े की हड्डी को खुद के पुनर्निर्माण और स्वस्थ रहने के द्वारा फ्यूज करके स्थिर करता है। दांत की हड्डियां अपने मसूड़ों और जबड़े को मजबूत रखती हैं इसलिए अपनी दांत की हड्डियां को नुकसान होने से रोकना चाहिए| फ्रैक्चर और अन्य मौखिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को काफी हद तक कम किया जा सकता है।
    ६. अन्य दांतों का स्वास्थ्य प्रभावित नहीं होता है
एक सड़ा हुआ दांत स्वाभाविक रूप से बगल के दांत को भी खराब कर देता है, इसलिए उनका उपचार जल्द से जल्द किया जाना चाहिए। कुछ दांतों के उपचार से बगल के दांत सड़ने लगते हैं उससे बगल के दांत कमजोर हो जाते हैं, या अन्य समस्याएं होने लगती हैं। हालांकि, दंत प्रत्यारोपण किसी भी तरह से आस-पास के दांतों के स्वास्थ्य को प्रभावित नहीं करता है। तो, दंत प्रत्यारोपण का उपचार यह एक सुरक्षित तरीका है।
    ७. किसी भी हालत में डेंटल इंप्लांट्स करके आपके दांतों को बदला जा सकता है|
यदि आपका कोई दांत टूट गया है, या किसी वजह से निकल दिया गया है, तो ज्यादा समय तक ऐसी स्थिति जबड़े की हड्डी और दांतों की गलत स्थिति का कारण बन सकता है। इसलिए इसका जल्द से जल्द इलाज किया जाना चाहिए।

क्या डेंटल इंप्लांट्स के लिए कोई विकल्प हैं?

डेंटल इंप्लांट्स के तीन प्रमुख विकल्प है जो आपकी सहायता कर सकते हैं। इन तीन विकल्पों में आंशिक डेन्चर, रेजिन-बॉन्ड ब्रिज और एक पारंपरिक ब्रिज शामिल हैं। हालांकि, इन विकल्पों में से, डेंटल इंप्लांट्स एक बेहतर विकल्प है जहां आपकी दांत नहीं है उसी के लिए बेहतर समाधान प्राप्त कर सकते हैं। एक डेंटिस्ट आपको समस्या की गंभीरता के अनुसार आपको बेहतर मार्गदर्शन दे सकता है और आपको उपचार का विकल्प प्रदान कर सकता है।

डेंटिस्ट की राय:

    दांत नहीं होने की समस्या के इलाज के लिए डेंटल इम्प्लांट एक बेहतर विकल्प हो सकता है। अधिकांश डेंटिस्ट अपने व्यापक लाभों के कारण डेंटल इंप्लांट्स की सलाह देते हैं। एक डेंटल इंप्लांट्स आस-पास के दांतों को प्रभावित नहीं करता है। आप प्राकृतिक दांतों का अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

About Author

Share

Your email address will not be published. Required fields are marked *